Satya Prem Ki Katha Review : कार्तिक आर्यन का फिर चला जादू, लोगो ने फिल्म को बताया ब्लॉकबस्टर, देखे Best रिव्यु।

Satya Prem Ki Katha Review : कार्तिक आर्यन का फिर चला जादू, लोगो ने फिल्म को बताया ब्लॉकबस्टर। फिल्म Satya Prem Ki Katha को फैंस की जबरदस्त प्रतिकिर्या मिल रही है। फिल्म में कार्तिक आर्यन और किआरा अडवाणी की जोड़ी फिर से धमाल माचने सिनेमाघरों में आ गयी है। इससे पहले भूल भुलैया 2 में दोनों साथ दिखे थे। फिल्म में एक जोरदार सोशल मैसेज भी दिया गया है। ये फिल्म बताती है की रेप किसी लड़की के छोटे कपडे पहनने से नहीं बल्कि लड़को की छोटी सोच से होता है। क्या है वो मैसेज और कैसी है फिल्म सत्य प्रेम की कथा। पढ़े फिल्म का पूरा रिव्यु।

क्या है फिल्म Satya Prem Ki Katha की कहानी 

फिल्म Satya Prem Ki Katha की कहानी, सत्यप्रेम अग्रवाल ( कार्तिक आर्यन ) और कथा कपाड़िया ( किआरा अडवाणी ) की कहानी है। फिल्म  में सत्तू यानि कार्तिक आर्यन जो मौज मस्ती से अपनी जिंदगी जीता है। जो लॉ में फ़ैल हो चूका है। सत्तू कोई काम भी नहीं करता है। साथ ही उसके पापा ( गजराज राव ) भी कोई  काम काज नहीं करते है। जिससे सत्तू और उसकी पापा की खूब जमती है।

Satya Prem Ki Katha Review
Image Credit: Twitter

दूसरी तरफ कथा कपाड़िया यानि किआरा अडवाणी एक अमीर फॅमिली से है। जिसे उसके बॉयफ्रेंड ने धोखा दे दिया है। फिल्म में कथा की शादी उसकी मर्ज़ी के बिना सत्तू से कर दी जाती है। लकिन सत्तू को कथा पसंद होती है। लकिन शादी के बाद सत्तू को कथा के बारे एक बड़ी बात पता चलती है। सत्तू को पता चलता है की कथा के साथ उसके बॉयफ्रेंड ने कुछ किया होता है। जिससे कथा मैंटल डिस्टर्ब हो जाती है। क्या है वो सच और क्या सत्तू पता लगा पायेगा वो सच ? ये तो आपको फिल्म Satya Prem Ki Katha देखने के बाद ही पता चलेगा।

यह भी पढ़े : जुलाई 2023 में रिलीज़ होने वाली 6 सबसे बेहतरीन बॉलीवुड फिल्मे( 6 Best Bollywood Movies Releasing in July 2023)

क्या है वो मैसेज  

फिल्म Satya Prem Ki katha एक जोरदार सोशल मैसेज देती है। फिल्म में रेप जैसे सवेंदनशील टॉपिक को उठाया गया है। फिल्म में बताया गया है की छोटे कपडे पहनने से रेप नहीं होता बल्कि लोगो की सोच खराब होती हैं जिससे रेप जैसी घटना हमारे समाज में होती है। आपका रेप कोई भी कर  सकता है। चाहे वो आपका बॉयफ्रेंड या आपका पति ही क्यों न हो। अगर लड़की की ना है तो उसका मतलब ना ही होता है। इसी मैसेज को फिल्म Satya Prem Ki katha में लोगो तक पहुंचने की कोशिश की गयी है। जिसमे मेकर्स सफल भी होते है। हमारे देश में रेप जैसी घटना हर रोज होती है। न जाने कितनी लड़किया रेप का शिकार होती है। फिल्म को लोगो का जबरदस्त रेस्पॉन्स मिल रहा है। लोग सोशल मीडिया पर फिल्म की तारीफ कर रहे है।

Satya Prem Ki Katha Review
इमेज Credit: Twitter

 Satya Prem Ki Katha Review

फिल्म को साजिद नाडियाडवाला के बैनर तले बनाया गया है। फिल्म के फर्स्ट हाफ में कॉमेडी का तड़का लगता है। जो फिल्म देखने वालो को खूब पसंद आएंगे। फिल्म की कहानी अच्छी है। जो दर्शको को बांधे रखती है। फिल्म के कुछ डायलॉग आपको हसने पर मजबूर कर देते है। फिल्म के फर्स्ट हाफ में आपको प्यार मोहबत्त, कॉमेडी और कार्तिक आर्यन का वेल्ला रूप आदि चीज़ो को दिखाया जाता है। लकिन फिल्म सेकंड हाफ में रेप का अहम् मुद्दा उठती है। जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगा। फिल्म देखने के बाद ये बात भी लोगो को समझ में आएगी की रेप कोई अनजान ही नहीं करता है। लड़की के मर्ज़ी के बिना, बॉयफ्रेंड या हस्बैंड भी इस अपराध में शामिल हो सकते है। फिल्म का म्यूजिक अच्छा है, लकिन ऐसा भी नहीं की लोग बाहर आने के बाद इसे गुनगुना रहे हो।

फिल्म में एक्टिंग और डायरेक्शन 

कार्तिक का काम अच्छा है। फिल्म Satya Prem Ki katha में कार्तिक आर्यन ने गुजराती बोली को शानदार तरीके बोला है। उनका काम स्क्रीन पर दिखता है। जब जब वो स्क्रीन पर आते है कमाल करते है। वही किआरा ने भी अपनी एक्टिंग से लोगो को इम्प्रेस किया है। उनका लुक फिल्म में कमाल का है। जो कथा के रोले में फिट बैठती है। गुजराती बोली भी शानदार तरीके से बोली है। वही कार्तिक के मम्मी पापा के रोल में गजराज राव और सुप्रिया पाठक ने अच्छी एक्टिंग की है। फिल्म की सबसे बड़ी ख़ास बात ये की ये मनोरंजन के साथ- साथ एक सोशल मैसेज भी देती है।

Satya Prem Ki Katha Review
Image Credit: Twitter

समीर विध्वंश का डायरेक्शन अच्छा है। वो हमेशा सामाजिक मुद्दों पर फिल्म बनाने के लिए जाने जाते है। फिल्म में रेप का सोशल मैसेज लोगो को दिया गया है। जो अच्छा है लकिन वो इसमें और अच्छा कर सकते थे। जो मुद्दा उन्होंने उठाया उसे थोड़ा और गहराई से लोगो को दे सकते थे। लकिन फिर भी फिल्म अपने मैसेज को लोगो तक पहुंचाने में सफल हो रही है। लोगो के बीच फिल्म को लेकर काफी अच्छा क्रेज देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़े : 1920 Horrors Of The Heart(2023): हॉरर के नाम पर बना दी Adult फिल्म, देखे Best रिव्यु

पसूरी गाने पर बवाल

फिल्म के गाने पसूरी को लोगो ने ज्यादा पसंद नहीं किया है। क्युकी गाने के पुराने वर्शन को रेक्रेट किया गया है, जिसमे अरिजीत सिंह ने अपनी आवाज़ दी है। पसूरी गाने के रिलीज़ के बाद से लोगो के नेगेटिव रिव्यु सामने आये है। ये एक पाकिस्तानी फोक सिंगर के गाने की कॉपी है। लोगो को पुराना गाना ही ज्यादा पसंद है। फिल्म को देखने के लिए बॉलीवुड सितारे के लिए मुंबई में स्पेशल स्क्रीनिंग राखी गयी। फिल्म देखने के बाद उन्होंने फिल्म की तारीफ की। वही सुनील शेट्टी ने ट्वीट कर साजिद को बधाई दी।

Satya Prem Ki Katha Review
 Image Credit: Twitter

फिल्म Satya Prem Ki katha की कास्ट 

फिल्म में कार्तिक आर्यन ( सत्यप्रेम अग्रवाल ) और किआरा अडवाणी ( कथा कपाड़िया ) के साथ- साथ शिखा तालसनिए, ऋतू शिवपुरी, सुप्रिया पाठक , महरू शेख, अनुराधा पटेल, सिद्धार्थ रांदेरिअ, गजराज राव, राजपाल यादव, विक्की कुमार।

फिल्म का टोटल कलेक्शन 

फिल्म नमे अब तक अपने दूसरे वीकेंड में लगभग 60 करोड़ के आस पास का कलेक्शन किया है। आपको बता दे की फिल्म सत्य प्रेम की कथा का कुल बजट लगभग 60 करोड़ ही है। अभीtak फिल्म ने अपने बजट का हिस्सा भी नहीं निकल पायी है। लकिन अनुमान है की फिल्म इस वीकेंड के पुरे होने के साथ ही अपना बजट निकाल लेगी। 

यह भी पढ़े: Salaar Teaser: सालार का टीज़र देख फैंस हुए गदगद, बाप लेवल एक्शन और मारधाड़, क्या KGF को देगी टक्कर

फिल्म देखे या नहीं : 

बेसक फिल्म आपको देखनी चाहिए। फिल्म आप किसी के साथ भी देख सकते है। फिल्म में एक जबरदस्त सोशल मैसेज भी है जिसके बारे में कोई  बात करना ही नहीं चाहता है। बस वही फिल्म Satya Prem Ki katha आपको समझने की कोशिश करती है। इसलिए फिल्म को आप फॅमिली के साथ एन्जॉय कर सकते है।

Conclusion

दोस्तों आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा। अगर आर्टिकल आपको पसंद आया है तो आप इसे शेयर जरूर करे। ऐसे और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए आप FIilmymuskan से जुड़े रहे। अगर आपका कोई भी सवाल है तो आप हमें निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते है। धन्यवाद

Leave a Comment